Rudraksha Lovers
Home » श्री हनुमान की आरती | Hanuman Aarti
Aarti Hanuman

श्री हनुमान की आरती | Hanuman Aarti

॥ आरती श्री हनुमानजी ॥


आरती कीजै हनुमान लला की।दुष्ट दलन रघुनाथ कला की॥

जाके बल से गिरिवर कांपे।रोग दोष जाके निकट न झांके॥

अंजनि पुत्र महा बलदाई।सन्तन के प्रभु सदा सहाई॥

दे बीरा रघुनाथ पठाए।लंका जारि सिया सुधि लाए॥

 

लंका सो कोट समुद्र-सी खाई।जात पवनसुत बार न लाई॥

लंका जारि असुर संहारे।सियारामजी के काज सवारे॥

लक्ष्मण मूर्छित पड़े सकारे।आनि संजीवन प्राण उबारे॥

पैठि पाताल तोरि जम-कारे।अहिरावण की भुजा उखारे॥

 

बाएं भुजा असुरदल मारे।दाहिने भुजा संतजन तारे॥

सुर नर मुनि आरती उतारें।जय जय जय हनुमान उचारें॥

कंचन थार कपूर लौ छाई।आरती करत अंजना माई॥

जो हनुमानजी की आरती गावे।बसि बैकुण्ठ परम पद पावे॥

Related posts

श्री रामायण आरती | Shri Ramayan Ji Aarti

श्री पुरुषोत्तम देव की आरती | Shri Purushottam Dev Aarti

Shiv Ji Arti In Hindi | शिवजी की आरती

Leave a Comment

Call To Consult